महिला होने की वजह से मेरी मां भारत में नहीं बन सकी जज- निकी हैली – Dew Media

0

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की स्थायी सदस्य भारतीय मूल की निकी हेली ने भारतीय महिलाओं की स्थिती पर विवादित बयान दिया है। निकी ने कहा कि अगर मेरी मां भारत में रहती तो उन्हें जज नहीं बनने दिया जाता क्यों कि वह एक महिला हैं।

काउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशन की एक बैठक में निकी से महिलाओं की भूमिका पर पूछे गए प्रश्न पर उन्होंने यह बात कही। उन्होंने कहा कि जब भारत में काफी लोगों की शिक्षा तक पहुंच नहीं थी उस वक्त मेरी मां ने लॉ की पढ़ाई की और मेरी मां भारत में पहली महिला जज के रूप में हो सकती थी लेकिन वह एक महिला है इसलिए उन्हें बतौर जज कुर्सी पर बैठने नहीं दिया गया।

बतादें की निकी हैली के माता-पिता राजकौर और अजित सिंह कथित तौर पर सन् 1960 में भारत छोड़कर अमेरिका चले गए थे लेकिन ज्ञात हो कि निकी के माता-पिता के भारत छोड़ने से दो दशक पहले ही अन्ना चांडी त्रावनकोर में जज रह चुकीं थी इसलिए निकी ने जो भारतीय महिलाओं के लिए टिप्पणी की है वह कहीं से भी सच नहीं दिखता है। चांडी को 1948 में जिला न्यायाधीश बनाया गया था यही नहीं वह 1959 में हाईकोर्ट में जज भी रही थी।

The post महिला होने की वजह से मेरी मां भारत में नहीं बन सकी जज- निकी हैली appeared first on Latest News in Hindi.

|| हलाकि इस खबर की पुष्टि NDTV-LIVE.COM नही करता है, इस खबर को मैंने इस लिंक से लिया है! (However, NDTV-LIVE.COM does not confirm this news, I have taken this news from this link !)

Facebook Comments